Save Girl – बेटी बचाओ …..लेकिन मै पूछता हु क्यों ???? Save Girl Motivational Story/Poem In Hindi

तेरी गोद में सोना है

बीते या फिर आने वाले दिन में हम सुनते थे या सुनेंगे

कि बेटी बचाओ …बेटी बचाओ |

लेकिन मै कहता हूँ कि क्यों बेटी बचाओ …बेटी बचाओ ….कभी इस बात पर गौर किये |

मै ये भी नहीं कहता कि ये गलत है पर जब मैंने “रविश रमण जी” जो कि बिहार राज्य के फारबिसगंज शहर के मशहूर कवि है , के द्वारा लिखित कविता को जब मैंने पढ़ा तो मुझे समझ आया कि आखिर क्यों बेटी बचाओ |

यकीन नहीं है तो आप भी पढ़िए तब समझ आएगा कि क्यों जरुरी है |

तेरी गोद में सोना है |

          माँ मै तो नादान थी ||

तुझसे पूछती थी |

          की मै बड़ी होउंगी कब ||

माँ मुझे फिर से बच्ची बना दो |

          अब तो मुझे छेड़ते है सब ||

माँ मै बोलती थी न |

          काश मै खुबसूरत हो जाती ||

माँ मुझे बदसूरत ही बना दो |

          मेरी खूबसूरती मुझे ही डस जाती ||

डसने वाले यहाँ बहुत हैवान है |

          माँ यहाँ तो कोई नहीं इंसान है ||

माँ बचपन में कितनी हँसती थी |

          अब तो सारे हैवान रुलाते है ||

माँ मुझे अब नहीं रोना है |

          तेरे ही गोद में बच्ची की तरह सोना है ||

माँ दिल करता है हैवानो को फांसी चढ़ा दूँ |

          माँ दिल करता है दुनिया को आग लगा दूँ ||

या सब कुछ छोड़ तुझे गोद लगा लूँ |

         माँ मुझे अब तो नहीं रोना है ||

तेरे ही गोद में बच्ची की तरह सोना है |

Poem Written By Ravish Raman

 

 

 

 

 

 

 

Story Covered By :- Team AC KI AADAT

 

 

 

 

 

 

 

Share

Aditya Chaurasia

This Is The Best Entertainment & Motivational Website For You....Thanks For Visit.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *